प्रकाश क्या है? What is light? अपवर्तन तथा परावर्तन

प्रकाश क्या है? What is light?

दोस्तो सबसे पहले हम यह जानने की कोशिश करते हैं कि प्रकाश है क्या? कुछ वैज्ञानिक यह मानते हैं कि प्रकाश एक कण की भांति व्यवहार करता है जबकि कुछ वैज्ञानिक यह भी मानते हैं की प्रकाश एक तरंग की भांति व्यवहार करता है। आइए देखते हैं प्रकाश क्या है? What Is Light?

प्रकाश को कण के रूप में स्वीकार करने वाले पहले वैज्ञानिक आइंस्टीन थे आइंस्टीन के अनुसार प्रकाश ऊर्जा के छोटे-छोटे बंडलों के रूप में पृथ्वी पर आता है। जबकि परावर्तन तथा अपवर्तन के नियम प्रकाश को तरंगदैर्ध्य के रूप में परिभाषित करते हैं।
अब आपके दिमाग में यह प्रश्न घूम रहा होगा कि आखिर प्रकाश एक कण की भांति कार्य करता है तो इसका प्रमाण क्या है आपकी जानकारी के लिए बता दे प्रकाश में दो प्रकार की घटनाएं पाई जाती हैं-

1. प्रकाश वैद्युत प्रभाव
2. क्रॉन्पटन प्रभाव

प्रश्न- प्रकाश उदाहरण है-
(A) तरंग का (B) कण का (C) दोनों का

उत्तर- (C) दोनों का

अब यह प्रश्न उठता है कि यदि प्रकाश तरंग है तो किस प्रकार की तरंग है, दोस्तों प्रकाश एक अयांत्रिक अनुप्रस्थ तरंग का उदाहरण है (अयांत्रिक तरंग के संचरण के लिए माध्यम की आवश्यकता नहीं होती)

प्रकाश की चाल कितनी होती है?

प्रकाश की चाल की गणना सर्वप्रथम रोवर नामक वैज्ञानिक ने किया था। उन्होंने बताया कि प्रकाश की चाल निर्वात में 3 * 10 की घात 8 मीटर/ सेकंड होती है । ध्वनि की चाल 332 मीटर प्रति सेकंड होती है। ध्वनि की चाल और प्रकाश की चाल में बहुत ज्यादा अंतर होता है।

ध्वनि की चाल तथा प्रकाश की चाल में तुलना

जब आसमान में बिजली चमकती है तब हमें सबसे पहले प्रकाश दिखाई देता है बाद में बादलों की गड़गड़ाहट अर्थात ध्वनि सुनाई देती है ऐसा इसलिए होता है कि प्रकाश की चाल ध्वनि की चाल से बहुत अधिक होती है।
दूसरे उदाहरण के द्वारा इसे समझते हैं आप सभी के घरों में टीवी होगा टीवी में एक यंत्र लगाया जाता है जिसे ऑडियो सिंक्रोनाइजर कहते हैं। टीवी में भी प्रकाश और ध्वनि का प्रयोग होता है परंतु टीवी देखते समय हमें आवाज और प्रकाश दोनों एक साथ सुनाई तथा दिखाई देते हैं।

अब आप सोच रहे होंगे कि प्रकाश को तो पहले आना चाहिए था ध्वनि को को बाद में। बिल्कुल सही सोच रहे हो आप। दरअसल टीवी में भी प्रकाश पहले तथा ध्वनि बाद में आती है परंतु ऑडियो सिंक्रोनाइजर यंत्र के कारण यह दोनों हमेशा साथ सुनाई व दिखाई देते हैं।

प्रकाश की घटनाएं

प्रकाश में दो प्रकार की घटनाएं होती हैं जिन्हें प्रकाश का परावर्तन तथा अपवर्तन कहते हैं।

प्रकाश का परावर्तन तथा अपवर्तन क्या है?

परावर्तन

जब प्रकाश की किरण किसी अवरोध से टकराकर वापस लौट जाती है तो इस क्रिया को प्रकाश का परावर्तन कहते हैं। प्रकाश की यह किरण जो किसी माध्यम से टकराती है उसे आपतित किरण कहते हैं तथा प्रकाश की जो किरण टकराकर वापस लौट जाती है उसे परावर्तित किरण कहते हैं। आपतित किरण तथा अभिलंब के बीच के कोण को आपतन कोण कहते हैं। परावर्तित किरण तथा अभिलंब के बीच बने कोण को परावर्तन कोण कहते हैं।

यदि कोई सतह अधिक चिकनी है तो उस पर प्रकाश का परावर्तन सबसे ज्यादा होगा।

उदाहरण- जब आप जूते की पॉलिश कराने जाते हैं तो यह देखते हैं कि पॉलिश करने के बाद जूते की चमक बढ़ जाती है। अर्थात जूते में पहले खुरदरी संरचना थी जब आपने उसमें पॉलिश करा दिया तब उसकी सतह चिकनी हो गई। इसी कारण से जब प्रकाश की किरण जूते के चिकनी सतह पर पड़ी तब उस किरण के परिवर्तित होने से जूते में चमक बढ़ गई

अपवर्तन

जब प्रकाश की किरण एक पारदर्शी माध्यम से दूसरे पारदर्शी माध्यम में प्रवेश करती है तो दोनों माध्यमों को अलग करने वाले तल पर अभिलंबवत अपाती होने पर बिना मुड़े सीधे निकल जाती है परंतु तिरछी आपाती होने पर वह अपने मूल दिशा में विचलित हो जाती है।

जब कोई प्रकाश की किरण सघन माध्यम से विरल माध्यम में प्रवेश करती है तब वह किरण अभिलंब से दूर जाती है।

जब कोई प्रकाश की किरण विरल माध्यम से सघन माध्यम में जाती है तो वह किरण दोनों माध्यमों के पृष्ठ पर खींचे गए अभिलंब की ओर झुक जाती है।

प्रकाश के अपवर्तन के कुछ उदाहरण:

पानी से भरी बाल्टी में छड़ डालने पर छड़ का मुड़ा हुआ दिखाई देना, तारों का टिमटिमाना, पानी से भरी बाल्टी में सिक्का डालने पर सिक्के का तल से कुछ ऊपर उठा हुआ दिखाई देना, सूर्योदय के पहले तथा सूर्योदय के बाद तक सूर्य का दिखाई देना।

आशा है आप लोगों को यह पोस्ट  “प्रकाश क्या है? What is light? अपवर्तन तथा परावर्तन” अवश्य पसंद आई होगी। अगर हमारा यह छोटा सा प्रयास अच्छा लगा हो तो आपसे विनम्र निवेदन है कि इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें जिससे हमें मनोबल प्राप्त होगा और हम आपके लिए ऐसे ही ज्ञानवर्धक पोस्ट लाते रहेंगे। अगर आपके मन में कोई सुझाव या शिकायत है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं। अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।

हमारे अन्य महत्वपूर्ण लेख भी पढ़ें-